in nutrients ki kami payi jati hai bhartiyo logo me, ye hai badi wajah

आधुनिक जीवनशैली में भारतीय लोग अपने खान-पान पर बहुत ज्यादा ध्यान ही नहीं दे पाते हैं, जिसके कारन लोगों में जरूरी न्यूट्रिएंट्स की कमी हो होती दिख रही है| ताज़ा खबर के अनुसार भारतीयों के खान-पान में जरूरी विटामिनों की बड़ी अनदेखी देखी पायी गई है| 
विटामिन की अगर बात करे तो यहाँ पर विटामिन ए, सी, बी-12 और फोलिक एसिड में प्रतिशत कमी के हिसाब से भारतीयों में सबसे खराब स्थिति उत्तर भारत की है जबकि विटामिन बी-1 की सबसे अधिक कमी दक्षिण भारत में देखी गई है|
एसआरएल डॉयग्नॉस्टिक में शोध-विकास एवं मोलेक्युलर पैथलॉजी के सलाहकार और मेंटर डॉ. बी आर दास ने बताया, की हर वर्ग के भारतीय लोगों में जांच के परिणामों में पर ध्यान देने से यह बात सामने आई है कि भारत के चारों क्षेत्रों में भारतीय लोगो में विटामिन c, b-1, b-2, b-12 और फोलिक एसीड की कमी की अधिक समस्या 31 से 45 वर्ष के लोगों में है
विटामिन बी-2 की सबसे अधिक कमी पश्चिम क्षेत्र के मरीजों में दर्ज की गई. डॉयग्नॉस्टिक चेन एसआरएल डॉयग्नास्टिक्स के साढ़े तीन सालों में 9.5 लाख से अधिक लोगो पर शोध करने पर यह निष्कर्ष सामने आया है की महिला और पुरुष में विटामिन ए, बी-2 और बी-6 की कमी महिलाओं में अधिक है, जबकि पुरुषों में विटामिन सी और बी-12 की अधिक कमी है|यह डाटा 2015 और 2018 के बीच पूरे भारत के 29 राज्यों और संघीय प्रदेशों के एसआरएल लैब्स की सैंपल जांच पर आधारित है.
एसआरएल के विश्लेषण से यह सामने आया है कि विटामिन की कमी देश के अन्य हिस्सों की तुलना में सबसे अधिक उत्तर भारतीय आबादी में है| तेजी से जीवनशैली में आए बदलाव और खान-पान की गलत आदतों की वजह से स्वास्थ्य संबंधी महत्वपूर्ण मानकों पर भारतीयों के पोषण में बड़ी कमियां पाई गई हैं. एसआरएल के डाटा के इस विश्लेषण ने स्पष्ट कर दिया है कि विटामिन ए, सी, बी-1, बी-6, बी-12 और फोलेट में जिस प्रकार की कमी है उससे लंबे समय में कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं|
स्पष्ट है की न्यूट्रिएंट्स की अधिक कमी भारतीय लोगो में है और इसकी बड़ी वजह यह भी है की भारतीय लोग सफर करते हुए कुछ फ़ूड जैसे स्नैक्स में फास्ट फूड खा लेना है| इसके अलावा दैनिक आहार में पोषक फल और सब्जियां नहीं होने से स्थिति और बिगड़ जाती है जिसेक चलते भारतीय में इन न्यूट्रिएंट्स की अधिक कमी देखी जा रही है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *