रेल्वे के स्टेशनो में जंक्सन, टर्मिनल और सेंट्रल का क्या मतलब होता है? क्लिक करके जाने


भारतीय रेल भारतीय रेल एशिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है और विश्व का चौथे स्थान पर रेल नेटवर्क है। रोजाना इसमें करोड़ से ज्यादा लोग इसमें सफ़र करते है। दोस्तों अगर आप ट्रेन से यात्रा करते है और आपको स्टेशन पर अलग अलग स्टेशन पर जंक्शन तो कहीं पर टर्मिनल तो कहीं पर सेंट्रल के नाम से देखा होगा क्या आप जानते है स्टेशन पर ये अलग अलग नाम क्यों होते है अगर आपको ये बात पता है तो बहुत अच्छी बात है और अगर आपको नही पता कोई बात नही मै आपको इस बारे में बताऊंगा।
भारतीय रेलवे स्टेशन को 4 भागो में डिवाइड किया गया है जिसमे 1 -टर्मिनल , 2 – सेंट्रल , 3 – जंक्शन, 4 – स्टेशन। तो दोस्तों आईये जानते है इन स्टेशनो के इस नामो के बारे में –
Terminal – टर्मिनल उस स्टेशनो को कहते है जहाँ पर ट्रैन आगे नहीं जा सकती है। मतलब उनके आगे जाने का कोई रास्ता नहीं होता है और वो जिस भी दिशा से आयी होती है उसी दिशा में वापस जाती है जैसे की छत्रपति शिवजी टर्मिनल, लोकयमान तिलक टर्मिनल, कोचीन हार्बर टर्मिनस ऐसे कुल मिलकर भारत में 27 टर्मिनल है ।
Central – दोस्तों सेंट्रल उन स्टेशन को कहते है जहाँ पर उस सिटी में एक से अधिक रेलवे स्टेशन है और वो सबसे पुराण रेलवे स्टेशन है साथ ही साथ रेलवे स्टेशन में सेंट्रल लिखे होने का मतलब ये भी होता है की वो स्टेशन सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन है। भारत के अंदर कुल पांच रेलवे सेंट्रल स्टेशन है 1 चेन्नई सेंट्रल 2 मुंबई सेंट्रल 3 त्रिवेंद्रम सेंट्रल,केरला 4 मंगलौर सेंट्रल ,कर्नाटक 5 कानपूर सेंट्रल
Junction – दोस्तों ट्रैन के स्टेशन के नाम के अंत में जंक्शन लिखे होने का मतलब ये होता है की ट्रैन के आने जाने के लिए तीन से अधिक रस्ते है मतलब ये ट्रैन दो रास्तो से आ सके और दो रास्तो से जा सके ऐसे स्टेशन को जंक्शन कहते है। ऐसे में मथुरा जंक्शन में सबसे जायदा 7 रुट है विजयवाड़ा जंक्शन में 5 रुट है और बरेली जंक्शन में 5 रुट है।
Station – स्टेशन उस जगह को कहा जाता है जहाँ ट्रेने यात्रियों और उनके सामान को लाने ले जाने के लिए रूकती है इसको स्टेशन कहते है ऐसे में भारत में कुल साढ़े 8000 रेलवे स्टेशन है।
दोस्तों आपको ये जानकारी कैसी लगी कमेंट में जरूर बताना पोस्ट पसंद आये तो लाईक करना बिलकुल भी मत भूले, पोस्ट को पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद
ये भी पढ़ें – 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *